कब्रिस्तान की जमीन पर अवैध कब्जा जमाने को लेकर दबंगों ने फैलाई संप्रदायिकता

कब्रिस्तान की जमीन पर अवैध कब्जा जमाने को लेकर दबंगों ने फैलाई संप्रदायिकता

जिले के आलाधिकारियों ने मौके पर पहुँच कर की जांच पड़ताल

लोकसभा चुनाव नजदीक आते ही उपद्रवियों द्वारा रची गई साजिश

कदौरा नगर पंचायत अध्यक्ष जमीर आलम पर लगाये गए संगीन आरोप,जांच के पश्चात पाए गए असत्य

दरअसल कुछ दिनों पहले कालपी तहसील के अंतर्गत कदौरा में कुछ दबंगो द्वारा कब्रिस्तान की जगह पर अवैध कब्जे को लेकर साम्प्रदायिकता फैलाई गई वहीं दूसरी ओर कुछ दबंगो के कहने पर मंदिर के पंडित द्वारा दिए गए बयान से खलबली मच गई थी।

लेकिन पूरे मामले को प्रत्यक्ष रूप से देखने के लिए आज जिले के आलाधिकारियों ने पहुंचकर जांच पड़ताल की तो सभी की आँखे खुली की खुली रह गयीं वहीं आपको बताते चलें कि कब्रिस्तान पर अवैध कब्जा करने के लिए दबंगो ने बजरंग दल और बिकी हुई मीडिया का सहारा लिया था जिसके चलते लोकसभा चुनाव को नजदीक आते देखते हुए दबंगो द्वारा हिंदू-मुस्लिम के बीच दंगा फसाद कराने की पूरी जिम्मेदारी लेने में कोई कसर नही छोड़ी थी।

वहीं लेकिन लोकसभा चुनाव को देखते हुए प्रशासन ने इस मामले को संज्ञान में लेकर मौके पर पहुँचकर सतर्कता दिखाई वहीं जिले के आलाधिकारियों के सामने मंदिर के पंडित जी ने एक बड़ा बयान देते हुए कहा कि बजरंग दल और दबंगों द्वारा मुझसे जबरन बयान दिलवाए गए थे वहीं कारण पूछने पर मंदिर के पंडित जी द्वारा बताया गया कि दबंगों द्वारा कब्रिस्तान की जमीन पर अवैध कब्जा करने को लेकर मुझसे यह बयान दिलवाये थे।

वहीं कुछ दिन पहले मंदिर के पंडित जी द्वारा बताया गया था कि मुस्लिम लोग मुझे जान से मारने की धमकी देते हैं लेकिन जब मामले को तूल पकड़ते जिले के आलाधिकारियों को नजर आया तो प्रशासन के आलाधिकारी मौके पर पहुंचे वहीं मौके की नजाकत को देखते हुए पंडित जी ने अपने बयान बदलते हुए पूरी सच्चाई अपने मुखार बिंदु से खोल कर रख दी।

वहीं देखने वाली बात तो ये रही कि जांच के दौरान बजरंग दल के कार्यकर्ता और बिकी हुई मीडिया दूर-दूर तक नजर नहीं आई वहीं गांव वालों ने भी बताया कि ऐसा कुछ नहीं है सभी लोग मिलजुल कर रहते हैं लेकिन कुछ दबंगों ने अवैध कब्जे को लेकर इस मामले को संप्रदायिकता का रंग देते हुए बजरंग दल के कार्यकताओं द्वारा पिछले कुछ ही दिनों पहले कदौरा नगर पंचायत अध्यक्ष जमीर आलम पर संगीन आरोप लगाए थे जो आज आलाधिकारियों द्वारा जांच पड़ताल में असत्य पाए गए।

आपको बता दें कि इस मामले को तूल पकड़ता देख कदौरा में आज अपर जिलाधिकारी प्रमिल कुमार, कालपी उपजिलाधिकारी सुनील कुमार शुक्ला,क्षेत्राधिकारी संजय शर्मा तथा कदौरा थाना अध्यक्ष कामता प्रसाद ने अपने पुलिस बल के साथ पहुंचकर मामले को शांत कराते हुए अमन शांति से रहने की अपील की।

रिपोर्ट-शिवम गुप्ता

Related

JOIN THE DISCUSSION

Translate »
Janta Newsindia

Janta Newsindia